Search
Close this search box.

सरपंच और मौलवी पर नाबालिग जोड़े की शादी करवाने का आरोप,जांच में जुटी पुलिस

बेहतर न्यूज अनुभव के लिए एप डाउनलोड करें

किशनगंज /प्रतिनिधि

दिघलबैंक के एक महिला सरपंच और उनके पति पर दो नाबालिग जोड़ा का जबरन शादी करा देने का मामला सामने आया है। इतना ही नहीं सरपंच ने लड़की के परिजनों से रुपया लेकर 15 वर्षीय लड़के के साथ शादी करा दिया है।मामला जिले के दिघलबैंक प्रखंड के मंगुरा पंचायत का है।

लड़के के माता सुहागी बेगम ने जन निर्माण केन्द्र सहयोगी संस्था कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन फाउंडेशन किशनगंज की टीम न्याय दिलाने की मांग की। संस्था के जिला परियोजना समन्वयक मोहम्मद मुजाहिद आलम ने टीम गठित कर मामले की जांच की। पूरे मामले में सरपंच और उसके पति जांच टीम का सहयोग नही किया।

जिसके बाद सरपंच और उसके पति के विरुद्ध कारवाई करने के लिए जिला बाल संरक्षण इकाई के सहायक निदेशक को लिखित सूचना दिया। सहायक निदेशक रवि शंकर तिवारी ने मामले को गंभीरता से लेकर तुरंत संबंधित थाना एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी को बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के तहत निकाह पढ़ाने वाले मौलाना मनव्वर आलम सहित सरपंच अंजिला बैगम और उसके पति तस्लीमुद्दीन पर प्राथमिक दर्ज करते हुए अग्रेतर कारवाई करने का निदेेश दिया।

एवं सरपंच को पदमुक्त करने के लिए जिला पंचायती राज पदाधिकारी को पत्र लिखा गया है। वहीं इस मामले में दिघलबैंक थाने में निकाह पढ़ाने वाले हाफिज मनव्वर आलम, सरपंच अंजिला बैगम, पति तस्लीमुद्दीन, वार्ड सदस्य इसराइल, बच्ची के माता पिता सहित अन्य कई लोगो के विरुद्ध कांड संख्या 73/24 के तहत प्राथमिक दर्ज करते हुए पुलिस अग्रेतर कारवाई में जुट गई है।

[the_ad id="71031"]

सरपंच और मौलवी पर नाबालिग जोड़े की शादी करवाने का आरोप,जांच में जुटी पुलिस

error: Content is protected !!
× How can I help you?