Search
Close this search box.

किशनगंज:प्रतिनियोजन रद्द किए जाने के बावजूद शिक्षक ने मूल विद्यालय में नही दिया योगदान

बेहतर न्यूज अनुभव के लिए एप डाउनलोड करें

कोचाधामन (किशनगंज)सरफराज आलम

शिक्षा विभाग के द्वारा प्रतिनियोजन रद्द किए जाने के पांच महीने से अधिक समय गुजर जाने के बाद भी शिक्षक के द्वारा अपने मूल विद्यालय में योगदान नहीं किया गया है। ऊपर से उक्त शिक्षक को शिक्षा विभाग किशनगंज की ओर से विद्यालय का प्रभारी प्रधानाध्यापक का पदभार सौंपा गया है।जो शिक्षा विभाग की लापरवाही को दर्शाता है।

मामला कोचाधामन प्रखंड के मजगामा पंचायत के अपग्रेड हाईस्कूल कन्हैयाबाड़ी से जुड़ा है।अपग्रेड हाईस्कूल कन्हैयाबाड़ी में प्रभारी प्रधानाध्यापक के पद पर आसीन एहतशामुल हक इस विद्यालय में प्रतिनियोजित है। उसका मूल विद्यालय ठाकुरगंज प्रखंड का एक विद्यालय है।

जबकि निदेशक माध्यमिक शिक्षा बिहार पटना के पत्रांक 2598 दिनांक 11 नवंबर 2023 एवं जिला शिक्षा पदाधिकारी किशनगंज के ज्ञापांक 1037 दिनांक 11 नवंबर 2023 के आलोक में डीपीओ एसएसए सह प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी कोचाधामन सूरज कुमार झा के ज्ञापांक 326 दिनांक 29 नवंबर 2023 के द्वारा जारी पत्र के आलोक में सभी मध्य,उत्क्रित मध्य एवं प्राथमिक विद्यालय में प्रतिनियोजन पर रोक लगाते हुए सभी प्रतिनियोजित शिक्षकों को अपने मूल्य पदस्थापित विद्यालय में योगदान करने का निर्देश जारी किया गया है।

इसके बाद भी शिक्षक एहतशामुल हक अपग्रेड हाईस्कूल कन्हैयाबाड़ी में प्रभारी प्रधानाध्यापक के पद पर आसीन है जो शिक्षा विभाग के आदेश को धाता दिखा रहा है।

इस संदर्भ में मजगामा पंचायत के मुखिया नसीम अख्तर ने कहा कि प्रतिनियोजन रद्द होने के बाद शिक्षा विभाग के अधिकारी किस आधार पर शिक्षक एहतशामुल हक को अपग्रेड हाईस्कूल कन्हैयाबाड़ी का प्रभारी प्रधानाध्यापक बनाया है यह जांच का विषय है।उन्होंने जिला पदाधिकारी तुषार सिंगला का ध्यान इस ओर आकृष्ट कराया है। इस संदर्भ में डीपीओ एसएसए सह प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी सूरज कुमार झा ने कहा कि ऐसे शिक्षक पर विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

किशनगंज:प्रतिनियोजन रद्द किए जाने के बावजूद शिक्षक ने मूल विद्यालय में नही दिया योगदान

error: Content is protected !!
× How can I help you?