Search
Close this search box.

मध्य प्रदेश से अपहृत 4 महीने की मासूम को किशनगंज से किया गया बरामद, अपहरणकर्ता गिरफ्तार

बेहतर न्यूज अनुभव के लिए एप डाउनलोड करें




पुर्णिया के रहने वाले है अपहरणकर्ता दंपत्ति



प्रतिनिधि  /किशनगंज


मध्यप्रदेश के इटारसी जंक्शन से अपहृत 4 माह के बच्चे को शहर के हलीम चौक के समीप से एमपी पुलिस ने सदर पुलिस की मदद से किया बरामद। मध्य प्रदेश के इटारसी रेलवे जंक्शन के प्लेटफार्म संख्या एक से 7 जुलाई की रात एक चार महीने के बच्चे का अपहरण हो गया था जिसके बाद बच्ची की मां प्रीति ठाकुर जिला हरदा एमपी निवासी ने इटारसी जीआरपी थाना में आवेदन देकर अपने बच्चे के अपहरण की शिकायत दर्ज
करवाया था।

जिसके बाद एमपी पुलिस ने मामले को संज्ञान में लेते हुए मामले की अनुसंधान शुरू किया और इसी दौरान रेलवे स्टेशन से बच्चे को एक दंपति के द्वारा अपहरण कर किशनगंज लाने की सूचना मिली। जिसके बाद एमपी पुलिस की आठ सदस्यीय टीम किशनगंज रवाना हो गई और किशनगंज पहुंचकर सदर पुलिस की मदद से बुधवार की सुबह हलीम चौक के समीप एक घर में छापेमारी कर चार माह के बच्चे को बरामद कर लिया और बच्चों का अपहरण करने वाले दंपति को हिरासत में ले लिया।

हिरासत में लिए दंपत्ति बसंती और सुमन पूर्णिया के रहने वाले है और दोनों मध्य प्रदेश में रोजी-रोटी की तलाश में गए थे। इसी दौरान इटारसी जंक्शन के प्लेटफार्म संख्या एक पर बैठे हुए थे जहा प्रीति अपने बच्चे के साथ उसी जगह पर बैठी थी। इसी बीच दोनों में दोस्ती हो गया और प्रीति के बच्चों के साथ दंपत्ति खेलने लगे और मौका मिलते ही बच्चे का अपहरण कर अपने साथ किशनगंज लेकर पहुंच गए।

दंपति बच्चे का अपहरण कर पहले पूर्णिया पहुंचे फिर पूर्णिया से अपनी बहन के घर किशनगंज के हलीम चौक आ गए जहां से बच्चे को पुलिस ने बरामद किया है। इटारसी जीआरपी थाना के सब इंस्पेक्टर आर. एस. बकोरिया ने बताया 7 जुलाई की रात जंक्शन के प्लेटफार्म से बच्चे का अपहरण हुआ था ।

जिसके बाद बच्ची की मां ने अपहरण का मुकदमा दर्ज करवाया था वहीं जांच के दौरान बच्चे के किशनगंज में होने की सूचना मिली जिसके बाद हम लोग किशनगंज पहुंचे हैं और सदर पुलिस की मदद से बच्चे को बरामद के साथ दंपति को हिरासत में लिया है। वही बच्चे के साथ दंपति को भी मध्य प्रदेश ले जाया जा रहा है।

Leave a comment

मध्य प्रदेश से अपहृत 4 महीने की मासूम को किशनगंज से किया गया बरामद, अपहरणकर्ता गिरफ्तार

error: Content is protected !!
× How can I help you?