Search
Close this search box.

सीमांचल में कांग्रेस को लग सकता है झटका,कद्दावर कांग्रेस नेता तौसीफ आलम और मंत्री जमा खान की मुलाकात के बाद चर्चाओं का बाजार हुआ गर्म

बेहतर न्यूज अनुभव के लिए एप डाउनलोड करें

विधान सभा चुनाव से पहले जनता दल यूनाइटेड किशनगंज में कर सकती है बड़ा खेला

किशनगंज /राजेश दुबे

विधान सभा चुनाव में भले ही अभी एक साल से अधिक समय है लेकिन सीमांचल में राजनैतिक दलों के द्वारा तैयारी शुरू कर दिया गया है ।लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद जनता दल यूनाइटेड ने अभी से बिसात बिछाना प्रारंभ कर दिया है और नेताओ पर डोरे डालने लगी है ।

बता दे की लोकसभा चुनाव के दौरान खुले मंच से कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिका अर्जुन खड़गे के समक्ष सांसद डॉ जावेद आजाद की शिकायत करने वाले बहादुरगंज विधान सभा क्षेत्र से पूर्व कांग्रेसी विधायक तौसीफ आलम के आवास पर अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मंत्री सह जिले के प्रभारी मंत्री जमा खान के पहुंचने और भोज में शामिल होने के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म हो चुका है की निकट भविष्य में तौसीफ आलम कांग्रेस से किनारा करते हुए जनता दल यूनाइटेड में शामिल हो सकते है।

बता दे की गुरुवार की रात को शहर के रूईधासा स्थित तौसीफ आलम के आवास पर अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री सह जिला प्रभारी मंत्री जमा खान पहुंचे थे ।इस दौरान जिला परिषद चेयरमैन रुकैया बेगम सहित दर्जनों जिला परिषद सदस्य भी मौजूद थे।इस दौरान जमा खान और तौसीफ आलम में काफी गर्मजोशी से मुलाकात हुई और घंटो तक बंद कमरे में दोनों नेताओ के बीच चर्चा हुई।


बताते चले की तौसीफ आलम लगातार चार बार बहादुरगंज विधान सभा क्षेत्र से विधायक रहे है और उनकी नजदीकिया मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी रही है।


बीते विधान सभा चुनाव में एआईएमआईएम नेता अंजार नईमी ने उन्हें हरा दिया था। वही अंजार नईमी अब राजद में शामिल हो चुके है। बिहार में कांग्रेस राजद में गठबंधन के कारण इस सीट पर अब राजद की दावेदारी होगी जिसके बाद इस चर्चा को और बल मिलता है की तौसीफ आलम जनता दल यूनाइटेड में शामिल हो सकते है।


अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खान को भोज पर आमंत्रित किए जाने को लेकर जब तौसीफ आलम से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा की यह सिर्फ एक अनौपचारिक मुलाकात थी ।उन्होंने कहा की मंत्री जमा खान से उनकी पुरानी दोस्ती है इसी लिए उन्हें भोजन पर आमंत्रित किया गया था। हालाकि इस दौरान एक बार फिर वो कांग्रेस सांसद डॉ जावेद आजाद पर निशाना साधने से नही चुके ।

उन्होंने कहा की डॉ जावेद का उन्होंने विरोध किया था क्योंकि वो क्षेत्र में नही जाते थे आज अगर कांग्रेस की जीत यहा हुई है तो वो पार्टी की जीत है ना की प्रत्याशी की जीत है ।किशनगंज के मतदाताओं ने कांग्रेस पार्टी को वोट देकर जिताने का कार्य किया है ।

वही बहादुरगंज विधान सभा सीट पर राजद की दावेदारी को लेकर पूछे गए सवाल पर तौसीफ ने कहा की वर्तमान विधायक अंजार नईमी एआईएमआईएम से चुनाव जीत कर आए थे ना की राजद यहां से चुनाव जीता था ।उन्होंने कहा की अगर राजद यहां से चुनाव जीतती तो वो दावेदारी छोड़ देते लेकिन उनकी दावेदारी बरकरार रहेगी ।ऐसे में बहादुरगंज विधान सभा क्षेत्र में जल्द ही घमासान देखने को मिल सकता है।इस मौके पर फैयाज आलम, असरफुल हक,निरंजन राय सहित अन्य लोग मौजूद थे।

[the_ad id="71031"]

सीमांचल में कांग्रेस को लग सकता है झटका,कद्दावर कांग्रेस नेता तौसीफ आलम और मंत्री जमा खान की मुलाकात के बाद चर्चाओं का बाजार हुआ गर्म

error: Content is protected !!
× How can I help you?