Search
Close this search box.

किशनगंज में महिलाओ ने आस्था के साथ किया वट सावित्री पूजा ,सदा सुहागन रहने का मांगा आशीर्वाद 

बेहतर न्यूज अनुभव के लिए एप डाउनलोड करें

किशनगंज/ प्रतिनिधि

वट सावित्री पर्व पर महिलाओं ने वट वृक्ष की पूजा कर अपने पति के दीर्घायु होने की कामना की। गुरुवार को सुबह से ही वट वृक्षों के नीचे पूजा अर्चना के लिए महिलाओं और नवविवाहिताओं की भीड़ लगी रही। सोलह श्रृंगार के साथ सज-धज कर पहुंची महिलाओ ने पहले फल और पकवान के साथ नीचे बैठ कर पूजा किया।

फिर वट वृक्ष में कच्चा सूता लपेट कर पांच बार परिक्रमा कर पति के लंबे उम्र की कामना की। मालूम हो की मंदिरों के समीप और घरों के आसपास लगे विशाल वट वृक्ष की पूजा के लिए सुबह आठ बजे से ही महिलाओं का आना शुरू हो गया और यह सिलसिला दोपहर बाद तक चलता रहा। पर्व को लेकर रूईधासा कस्टम चौक के निकट  धर्मशाला रोड स्थित मनोरंजन क्लब परिसर,डुमरिया सहित एमजीएम रोड में कई स्थानों पर लगे वट वृक्ष की पूजा अर्चना की गई।

बताते चले की ऐसी मान्यता है कि वट वृक्ष की पूजा अर्चना करने से महिलाए सदा सुहागन रहती है और  घर में सुख, शांति, समृद्धि आने के साथ साथ महिलाओं को सौभाग्य की प्राप्ति होती है।पंडित जगरनाथ झा ने बताया कि जेठ मास के कृष्ण पक्ष अमावस्या तिथि पर  वट सावित्री पूजा का विधान है। इस दिन महिलाएं दीर्घ सुखद वैवाहिक जीवन की कामना के लिए वट वृक्ष की पूजा अर्चना कर व्रत भी करती हैं।

लोक कथा के अनुसार सावित्री ने दृढ़ निश्चय के बल पर वट वृक्ष के नीचे मृत पड़े अपने पति सत्यवान को यमराज से पुन: प्राप्त करने में सफल रही थी। सावित्री के दृढ़ निश्चय और संकल्प की याद में इस दिन महिलाएं सुबह स्नान करने के बाद नव वस्त्र धारण कर सोलह श्रृंगार करती हैं। पूजा अर्चना के बाद ही जल ग्रहण करती हैं। 

[the_ad id="71031"]

किशनगंज में महिलाओ ने आस्था के साथ किया वट सावित्री पूजा ,सदा सुहागन रहने का मांगा आशीर्वाद 

error: Content is protected !!
× How can I help you?